Nagaland ki Rajdhani kya hai | नागालैंड की राजधानी क्या है

0

यदि आप एक स्टूडेंट है तो आपको Nagaland ki Rajdhani kya hai और Nagaland ki Rajdhani में क्या क्या है वंहा की सुविधा कैसी है नागालैंड में शिक्षा की सुविधा कैसी है और भी कई सारी जानकारी आपको जननी चाहिए ताकि आपको कंही जनरल नॉलेज में काम आये क्यूंकि यह सब बहुत जाएदा पूछ जाता है किसी जेनरल नॉलेज में

Nagaland ki Rajdhani kya hai

इसी लिए यदि आपको The Capital of Nagaland इसके बारे में जानने में इंट्रेस्ट है तो इस आर्टिकल को आप पूरा पढ़ें ताकि नागालैंड से जुडी काफी सारी जानकारी आपको पता चल सके

Nagaland ki Rajdhani kya hai

भारत देश के उत्तर-पूर्वी में स्थित राज्य नागालैंड की राजधानी कोहिमा है। कोहिमा नागालैंड की एक जिला भी है जिसका मुख्यालय कोहिमा ही है और यही नागालैंड की राजधानी है। कोहिमा को केवीरा के नाम से भी पुकारा जाता है। कोहिमा शहर की स्थापना सन 1878 ईस्वी में हुई थी।

जब 1 दिसम्बर 1963 ईस्वी को भारत के 16वाँ राज्य के रूप में नागालैंड राज्य की स्थापना हुई तब कोहिमा शहर को आधिकारिक तौर पर इस राज्य की राजधानी घोषित कर दिया गया। यहाँ पर खास करके नागा समुदाय के लोग रहते है।

नागालैंड की राजधानी का इतिहास

कोहिमा शहर का स्थापना उस समय हुवा था जब अंग्रेजों ने यहाँ सन् 1878 ईस्वी में तत्कालीन नागा पहाड़ियों का मुख्यालय स्थापित किया था। जब दुनिया मे द्वितीय विश्वयुद्ध (1 सितंबर 1939-2 सितम्बर 1945) चल रही थी उस वक्त कोहिमा शहर में भी एक खूनी लड़ाई लड़ी गई थी जिसे ‘पूर्व का स्टेलिनग्राद’ के नाम से भी जाना जाता है।

Most Read:- Manipur ki Rajdhani kya hai | मणिपुर की राजधानी क्या है

कोहिमा का युद्ध 4 अप्रैल 1944 से लेकर 22 जून 1944 तक तीन चरणों मे लड़ा गया था। यह युद्ध आजाद हिन्द फौज तथा जापान की संयुक्त सेना के बीच हुई थी जिसका नेतृत्व सुभाष चन्द्र बोस और ब्रिटिश भारतीय सेना कर रहे थे। यह इतना घातक लड़ाई थी कि वर्ष 2013 में ब्रिटिश नेशनल आर्मी म्यूजियम के द्वारा इसे ब्रिटेन की सबसे बड़ी लड़ाई घोषित कर दिया गया। इस युद्ध मे दोनों और से भारतीय सेना ही लड़ रहे थे।

नागालैंड की राजधानी की जनसंख्या और क्षेत्रफल

जनसंख्या:- ग्रेटर कोहिमा की जनसंख्या 1,15,283 अर्थात 1.5 लाख है। अगर कोहिमा जिला की जनसंख्या के बारे में बात किया जाए तो इसकी जनसंख्या 2011 में हुई जनगणना के अनुसार लगभग 2,70,063 है। जब वर्ष 2011 में जनगणना हुई थी उस समय नागालैंड की राजधानी कोहिमा की जनसंख्या लगभग 99,039 थी जिसमे से 51,626 पुरूष और 47,413 महिलाएं थी।

कोहिमा क्षेत्र का सबसे प्रमुख धर्म ईसाई धर्म है जिसे यहाँ के कुल जनसंख्या का 80.22% आबादी मानते है। इसके बाद हिन्दू धर्म मानने वालों की जनसंख्या कुल जनसंख्या का 16.09% है। कोहिमा में कुल जनसंख्या का 3.06% आबादी इस्लाम धर्म, 0.45% आबादी बौद्ध धर्म, 0.01% आबादी जैन धर्म, और 0.08% आबादी सिख धर्म को मानते है। 0.09% आबादी अन्य धर्मों की उपासना करते है। कोहिमा जिले का जनसंख्या घनत्व 183 वर्गकिलोमीटर पर्ति एक हजार जनसंख्या है।

2011 जनगणना के अनुसार कोहिमा राजधानी का लिंगनुपात 1000 पुरूष पर 927 महिलाएं है। यहाँ का औसत साक्षरता दर 85.23% है जिसमे से पुरुष साक्षरता दर 88.69% एवं महिला साक्षरता दर 81.48% है

क्षेत्रफल:- कोहिमा जिला का कुल क्षेत्रफल 1,463 वर्गकिलोमीटर है जिसमे से नागालैंड की राजधानी कोहिमा का क्षेत्रफल 20 वर्गकिलोमीटर (लगभग 8 वर्ग-मील) है। कोहिमा का कुल क्षेत्रफल का 26% हिस्सा मलिन बस्तियों के नाम से जाना जाता है जिसमे लगभग एक तिहाई आबादी गरीबी रेखा से नीचे है।

Nagaland की राजधानी की भौगोलिक स्थिति

नागालैंड की राजधानी कोहिमा 25.67°N 94.12°E पर स्थित है। यह कोहिमा जिला के दक्षिण दिशा में जपफू रेंज की तलहटी पर स्थित है। समुद्र तल से कोहिमा की ऊंचाई 1,261 मीटर यानी कि 4137 फीट है। राजधानी कोहिमा, कोहिमा जिला के 20 वर्गकिलोमीटर क्षेत्रफल तक घिरा है।

जलवायु:-  यहाँ का मुख्य जलवायु उपोष्णकटिबंधीय उच्चभूमि जलवायु है। कोहिमा में सर्दियाँ अत्यंत ठण्ढी होती है। इस क्षेत्र में सबसे अधिक ठंढ दिसम्बर से लेकर फरवरी महीना तक होता है। इस समय यहाँ अधिक मात्रा में पाला भी पड़ता है। इन महीनों में कभी कभी इस क्षेत्र के ऊंचे ऊंचे स्थानों पर हिमपात भी होने लगता है।

नवंबर महीने में भी यहाँ का तापमान काफी नीचे गिर जाता है। जून और अगस्त महीने के बीच यहाँ का औसतन तापमान 27-32 डिग्री सेल्सियस यानी कि 80-90 डिग्री फारेनहाइट होती है। यहाँ पर मार्च से मई महीने तक गर्मियों के मौसम शुरू होता है इस समय यहाँ का तापमान 25 डिग्री सेल्सियस तक सीमित रहता है। जून से सितंबर महीने तक यहाँ पर काफी बारिश होती है इस समय 300 मिलीमीटर तक वर्षा होती है। यहाँ पर वर्षा का प्राम्भ जून महीने के बाद से ही शुरू हो जाती है।

Nagaland की राजधानी की शिक्षा

नागालैंड की राजधानी कोहिमा में शिक्षा व्यवस्था अन्य राज्यों के राजधानी जैसे ही है। यहाँ भी शिक्षा प्राप्त करवाने हेतु सरकारी और प्राइवेट स्कूलों का निर्माण किया गया है। कोहिमा में भी अनेकों प्रकार के स्कूल, महाविद्यालय और विश्वविद्यालय है, जहाँ से निम्न स्तरीय शिक्षा से लेकर उच्च स्तरीय शिक्षा को भी प्राप्त कर सकते है।

लिटिल फ्लावर हायर सेकेंडरी स्कूल, मिनिस्टर्स हिल बैपटिस्ट हायर सेकेंडरी स्कूल, मेझुर हायर सेकेंडरी स्कूल आदी इस क्षेत्र के कुछ स्कूल है। कोहिमा के विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के भी व्यवस्था है जैसे एल्डर कॉलेज, कोहिमा साइंस कॉलेज, बैपटिस्ट कॉलेज, मॉडल क्रिश्चियन कॉलेज, माउंट ओलिव कॉलेज, क्रोस कॉलेज, कोहिमा कॉलेज, कोहिमा लॉ कॉलेज, ओरिएंटल कॉलेज इत्यादि।

भाषा:-  कोहिमा का प्रमुख भाषा अंग्रेजी है जो नागालैंड की आधिकारिक भाषा है। कोहिमा क्षेत्र में लोथा, कोन्याक, फोम, चांग, सेमा, रेंगमा, और अंगामी जैसे भाषाएँ भी बोली जाती है। अंगामी भाषा नागालैंड की प्रमुख भाषा होने के साथ साथ यह भारत देश की 1652 भाषाओं एवं बोलियों में से एक है।

पर्यटन स्थल

कोहिमा युद्ध कब्रिस्तान:- यहाँ पर द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान 1944 ईस्वी में हुई कोहिमा युद्ध में शाहिद हुवे वीर सैनिकों की कब्र है। कोहिमा के इस युद्ध कब्रिस्तान में द्वितीय विश्व युद्ध के 1,420 राष्ट्रमंडल दफन हैं जिसे देखने के लिए अलग अलग शहरों से पर्यटक आते है। यह कब्र गैरीसन हिल पर बनाया गया है।

नागा हेरिटेज कॉम्पलैक्स:- कोहिमा के नागा हेरिटेज कॉम्पलैक्स में छोटे छोटे दुकाने से लेकर बड़े बड़े दुकानों को देखा जा सकता है साथ ही इस कॉम्प्लेक्स में 1944 में हुवे कोहिमा युद्ध या द्वितीय विश्वयुद्ध से जुड़े कुछ संग्रहालय को भी देखा जा सकता है। इस कॉम्पलेक्स में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए एम्फीथियेटर का निर्माण किया गया है। इस कॉम्पलेक्स का उद्घाटन नागालैंड सरकार द्वारा 1 दिसम्बर 2003 को किया गया था। इस स्थान पर फूलों का पार्क भी है जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

Most Read:- kerala ki Rajdhani kya hai | केरल की राजधानी क्या है?

कोहिमा चर्च:- नागालैंड की राजधानी में स्थित कोहिमा चर्च एशिया का सबसे बड़ा चर्च है जो लगभग 25,000 वर्ग फीट में फैला हुवा है। यह चर्च काफी बड़ा है जिसमे 3,000 से भी अधिक लोगों के बैठने की व्यवस्था है। इस चर्च में बेथलेहम जैतुन की लकड़ी से बनी एक नाद है जहाँ लोग प्राथना भी करते है। इस नाद की सुंदरता अत्यधिक मनमोहक और शांतिपूर्ण है। पर्यटकों को यहाँ शांति का अनुभव होता है।

कोहिमा गांव:- कोहिमा क्षेत्र में ऐसा भी एक गांव है जो एशिया का सबसे घनी आबादी वाला गाँव कहलाता है। कहा जाता है कि इस गाँव की स्थापना व्हिनुओ नामक व्यक्ति द्वारा की गई थी। मान्यता है कि प्राचीन समय में, इस गॉंव में सात झीलें और सात द्वार थे। परंतु वर्तमान में केवल एक द्वार को देख जा सकता है क्योंकि बाकी सभी द्वारें गायब हो चुकी है।

इस दीवार को विभिन्न आकार के पत्थरों से काफी अच्छी तरह से सजाया गया है साथ ही सजावट में भैंस के सींगो का भी उपयोग किया गया है जो इस दीवार की सुंदरता को ओर भी आकर्षक बनाती है। पर्यटकों को यह दीवार काफी सुंदर लगता है। यहाँ जितने भी पर्यटक आते है बिना फ़ोटो लिए वापिस नही जाते है क्योंकि यह दीवार इतना सुंदर ही है।

संग्राहलय:- इस संग्राहलय का निर्माण नागालैंड सरकार द्वारा बयावी पहाड़ी पर बनाया गया है। इस संग्राहलय में नागालैंड की नागा आदिवासियों की संस्कृति और इसके इतिहास से जुड़ी अनेक वस्तुओं और विशेष दस्तावेजों को देखा जा सकता है जो अत्यंत पुरानी है।

इस संग्राहलय में अनेकों प्रकार के बहुमूल्य और कीमती चीजों जो देखा जा सकता है जैसे हाथी दांत व मोतियों से बना हार, लकड़ी से बने वाद्ययंत्र, भैंस के सींगों से बने वाद्ययंत्र, इत्यादि। यहाँ पर विभिन्न प्रकार के पैंटिंग को भी देखा सेक्टए है जो अक्सर कला प्रेमियों को अपनी ओर आकर्षित करता है। पर्यटकों को यहाँ काफी चीज देखने को मिलता है।

दजुकोउ घाटी:- दजुकोउ घाटी, कोहिमा शहर के दक्षिण की ओर लगभग 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है जिसकी अति-सुंदरता पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है। यहाँ पर एकोनिटम और एन्फोबियस प्रकार के फूलों के साथ साथ अनेकों प्रकार के और विभिन्न रंगों के फूलों को देखा जा सकता है।

जप्फु चोटी:- कोहिमा के सदाबहार जंगलों से भरी पड़ी जप्फु चोटी का दृश्य काफी मनमोहक है। यह दजुकोउ घाटी के समीप ही स्थित है। यहाँ के जंगल में पर्यटकों को दुनिया के ऊंचे ऊंचे पेड़ो को देख जा सकता है। इन पेड़ों की विशेषता के कारण, यहाँ के पेड़ों को गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्डस में भी शामिल किया गया है।

Nagaland की राजधानी की यातायात

रेलमार्ग:- कोहिमा में अभी तक अपना कोई रेलवे स्टेशन नही है प्रान्ती वर्तमान में कोहिमा ज़ुब्ज़ा रेलवे स्टेशन का निर्माण किया जा रहा है जो विशेष कर कोहिमा शहर को सुविधा उपलब्ध करवायेगी। वर्तमान में कोहिमा शहर से 74 किलोमीटर की दूरी पर दीमापुर रेलवे स्टेशन है जो अभी रेलमार्ग द्वारा कोहिमा पहुंचने में साहयता करती है।

सड़कमार्ग:- सड़क मार्ग द्वारा कोहिमा अन्य शहरों के मुकाबले काफी अच्छी तरह से जुड़ा है। कोहिमा शहर से मार्ग NH 2 और NH 23 जुड़ा हुआ है। वहीं कोहिमा को राष्ट्रीय राजमार्ग 2 (NH 2) डिब्रूगढ़ (असम) और तुईपांग (मिजोरम) जैसे शहरों को जोड़ती है।

कोहिमा से होकर राष्ट्रीय राजमार्ग 29 (NH 29) भी गुजरती है जो दबाका (असम) और जेसामी (मणिपुर) जैसे प्रमुख शहरों को जोड़ती है। कोहिमा शहर एशियाई राजमार्ग 1(AH1) द्वारा इस्तांबुल और टोक्यो जैसे बड़े बड़े शहरों से भी जुड़ा हुआ है। और एशियाई राजमार्ग 2 (AH2) कोहिमा को देनपसार से लेकर खोसरवीक तक जोड़ती है।

वायुमार्ग:- कोहिमा शहर का सबसे निकटम हवाई अड्डा दीमापुर हवाई अड्डा है जो शहर से 74 किलोमीटर यानी कि लगभग 46 मिल की दूरी पर स्थित है। कोहिमा में भी ‘कोहिमा चिएथू हवाई अड्डा’ का निर्माण किया जा रहा है जो कोहिमा शहर को बाकी अन्य शहरों के साथ वायुमार्ग द्वारा जोड़ेगा।

Most Read:- PhD karne ke fayde | पीएचडी करने के फायदे की पूरी जानकारी

Conclusion

आज की इस आर्टिकल में हम आपको The Capital of Nagaland के बारे में बताये है क्या आपको Nagaland ki Rajdhani kya hai इसके बारे में विस्तार से पता चल गया यदि हाँ तो हमें कम्मेंट में जरूर बताये और अभी भी आपके मन में कोई सवाल है तो ये भी हमें कम्मेंट में जरूर बताये ताकि हम आपको आपके सवाल का जवाब दे सकें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here